देवी बनाकर लुटा

सबसे ज्यादा नारी पूजा हमारे देश में होती है या यह कहें सिर्फ यहीं होती है :-






और सबसे ज्यादा नारी अपमान भी शायद
कब थमेंगे ये अनमोल रत्न






भगवान में आस्था रखने वाले कहते हैं न सबसे बड़ा शक्तिमान है भगवान, और मनुष्य क्या जिसने सबको देवी बना कर लुटा ...........

Read Users' Comments (5)

5 Response to "देवी बनाकर लुटा"

  1. Udan Tashtari, on October 19, 2009 at 5:49 AM said:

    भगवान बन कर लूटने का धंधा अभी लेटेस्ट फैशन में है भाई!!

  2. M VERMA, on October 19, 2009 at 6:29 AM said:

    सबको देवी बना कर लुटा ...........
    हमारी आँखो के सामने -
    देवियाँ लुटती रही
    और हम पूजते रहे
    पर ये लूटने वाले कौन है
    हम तो कुछ नही कहेंगे
    हमारा तो आज मौन है.

  3. दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi, on October 19, 2009 at 7:00 AM said:

    नारी पूजा तो नारी के अपमान को छिपाने का बहाना लगता है।

  4. AAKASH RAJ, on October 19, 2009 at 7:37 AM said:

    जी बिलकुल सही कहा आपने दिनेशराय द्विवेदी जी, सब कुछ देखने के बाद तो अब येसा ही लगता है .....

  5. लवली कुमारी / Lovely kumari, on October 19, 2009 at 10:25 AM said:

    द्विवेदी जी से सहमत ..यह अपनी ग्लानी को ढंकने के लिए समाज द्वारा किया जाने वाला आडम्बर है.